Tag: hindi

Bharat Mata

Bharat Mata Class 11th Hindi NCERT Sollutions, Summary, MCQs

भारत माता कक्षा 11वीं हिन्दी आरोह भाग-1

पंडित जवाहरलाल नेहरू

लेखक परिचय : भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 1889 ई. में इलाहबाद (उत्तर प्रदेश) में हुआ था| उनकी मृत्यु 1964 ई. में नई दिल्ली में हुई थी|

जवाहरलाल नेहरू का जन्म इलाहबाद के एक संपन्न परिवार में हुआ| उनके पिता वहाँ के बड़े वकील थे| नेहरू की प्राथमिक शिक्षा घर पर तथा उच्च शिक्षा इंग्लैंड में हैरो तथा कैंब्रिज में हुई| वही से वकालत भी की| लेकिन नेहरू पर गांधी जी का बहुत प्रभाव पड़ा| उनकी पुकार पर वे वकालत छोड़कर आज़ादी की लड़ाई में जुट गए| आगे चल कर सन् 1929 में वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन के अध्यक्ष बने और पूर्ण स्वतंत्रता की मांग की| नेहरू का झुकाव समाजवाद की ओर भी था| 

सन् 1947 में जब भारत स्वतंत्र हुआ तो नेहरू जी पहले प्रधानमंत्री बने ओर भारत के निर्माण में अंत तक जुटे रहे| उन्होंने देश के विकास के लिए कई योजनायें बनाई, जिनमें आर्थिक ओर औद्योगिक प्रगति तथा वैज्ञानिक अनुसन्धान से लेकर साहित्य,कला, संस्कृति आदि क्षेत्र शामिल थे| नेहरू जी बच्चों के बीच चाचा नेहरू के रुप में जाने जाते थे| शांति अहिंसा ओर मानवता के हिमायती नेहरू ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विश्वशांति ओर पंचशील के सिद्धांतो का प्रचार किया|   

प्रमुख रचनाएँ:- मेरी कहानी(आत्मकथा), विश्व इतिहास की झलक, हिंदुस्तान की कहानी, पिता के पत्र पुत्री के नाम(हिंदी अनुवाद), हिन्दुस्तान की समस्याएं, स्वाधीनता और उसके बाद, राष्ट्रपिता, भारत की बुनियादी एकता, लड़खड़ाती दुनिया आदि(लेखों और भाषणों का संग्रह)|

पाठ का सारांश

स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा रचित निबंधात्मक लेख ‘भारत माता’ में भारत की धरती, संस्कृति और यहाँ के लोगो को ‘भारत माता’ की संज्ञा दी गयी है| इस पाठ में उन्होंने भारत माता के वास्तविक स्वरूप की चर्चा की है|

पाठ का सारांश इस प्रकार है :-

किसानों से वार्तालाप – जवाहरलाल जब भी एक जलसे से दूसरे जलसे में जाते थे तो वे वहां पर अपने श्रोताओं से ‘भारत माता’ के वास्तविक स्वरूप की चर्चा भी करते और उन्हें बताते थे कि किस प्रकार से उतर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक सारा भारत देश एक ही है| उसकी समस्या एक-सी है|  वे उन्हें खैबर दरें से लेकर कन्याकुमारी तक का हाल सुनते थे और यह भी बताते थे कि जहां भी वे जाते है, देश के सभी किसान उनसे इसी प्रकार के सवाल किया करते है वह उन्हें बताते है कि सबकी समस्याएं यही है– गरीबी, कर्ज, पूंजीपतियों का शोषण, ज़मींदार, महाजन, कड़े लगान, सूद, पुलिस अत्याचार, और विदेशी शासन की दासता| नेहरू कोशिश करते कि सभी देशवासी पुरे हिन्दुस्तान के बारे में एक साथ सोचें तथा विदेशी शासन से छुटकारा पाएं|

विदेशी शासन की चर्चा-  जवाहरलाल नेहरू जलसों में अपने भाषणों एवं बातचित के दौरान चीन, स्पेन, अबीसीनिया, यूरोप, मिस्त्र और पश्चिमी एशिया में होने वाले संघर्षों का भी वर्णन किया करते थे| वे उन्हें रूस में हो रहे परिवर्तनों एवं अमेरिका की प्रगति के बारे में भी बताते रहते थे| यो तो किसानों को विदेशों के बारे में समझाना आसान नहीं दिखता था, पर नेहरू जी को यह काम कठिन नहीं लगा| कारण यह था कि किसानों ने पुराने महाकाव्यों तथा कथा-पुराणों की कथा-कहानियां पढ़-सुन रखी थी| कुछ लोगों ने तीर्थ-यात्राएं भी की थी| इसी बहाने वे चारों धामों की यात्राएं करके भारत के चारों कोनो से परिचित हो चुके थे| कुछ सिपाहियों ने बड़ी बड़ी लड़ाइयो में भाग लिया था| कुछ लोग और भी अधिक जागरूक थे| उन्हें सन् 1930  ईo के बाद आयी आर्थिक मंदी के कारण दूसरे देशों का हाल मालूम था|   

Pandit Jawahar Lal Nehru

भारत माता की जयके नारे पर नेहरू का प्रश्न– जलसों में कभी-कभी नेहरू जी का स्वागत ‘भारत माता की जय’ के नारों से होता था| तब किसानों से भारत माता के बारे में पूछते थे कि यह कौन है? प्राय: इस बारे में उन्हें कुछ ज्ञान नहीं होता था| एक हट्टे-कट्टे जाट किसान ने उन्हें बताया कि भारत माता का अर्थ है– भारत की धरती| तब नेहरू उनसे पूछते कि कौन-सी धरती- उनके गांव की धरती अथवा जिले, सूबे या पूरे देश की धरती| इस प्रश्न पर फिर सब किसान हैरान रह जाते |

 ‘भारत माता’ की व्याख्या– नेहरू जी उन्हें बताते थे कि ‘भारत माता’ वह सब तो है ही जो वह सोचते है, वह उससे भी अधिक, कुछ और भी है| यहाँ के नदी, पहाड़, जंगल, खेत और करोड़ों भारतीय सब मिलकर ‘भारत माता’ कहलाते है| ‘भारत माता’ की जय का मतलब है कि इन सबकी जय| जब वे लोग स्वं को भी भारत माता का अंग समझते थे तो उनकी आँखों में एक विशेष प्रकार की चमक आ जाती थी|

Bharat Mata Class 11th Question & Answers

Question 1: भारत की चर्चा नेहरू कब और किससे करते थे?

Ans: भारत की चर्चा नेहरू जलसे में आए श्रोताओं से करते थे। नेहरू जी प्रायः जलसों में जाते रहते थे। तब वह जलसे में आए हुए श्रोताओं से भारती की चर्चा किया करते थे।

Question 2: नेहरू जी भारत के सभी किसानों से कौन-सा प्रश्न बार-बार करते थे?

Ans: पं. नेहरू जी भारत के सभी किसानों से ‘भारतमाता की जय’ के विषय में प्रश्न बार-बार किया करते थे। वह उनसे पूछते थे कि किसान जिस भारतमाता की जय करते हैं, वह कौन है? नेहरू जी के इस प्रश्न पर जब लोग जवाब देते की धरती को वे भारतमाता कहते हैं, तो नेहरू जी उनसे फिर प्रश्न करते कि कौन-सी धरती के बारे में बात की जा रही है? इसमें वे अपने गाँव की धरती की बात कर रहे हैं। जिले, सूबे अथवा हिन्दुस्तान की बात कर रहे हैं। इस तरह वह किसानों से प्रश्न बार किया करते थे।

Question 3: दुनिया के बारे में किसानों को बताना नेहरू जी के लिए क्यों आसान था?

Ans: नेहरू जी किसानों को दुनिया के बारे में बताते थे। उन्हें इनके बारे में बताना नेहरू जी के लिए आसान था। किसान पुराणों तथा महाकाव्यों से जुड़ी कथा व कहानियों से अंजान नहीं थे। अतः इन्हीं के माध्यम से नेहरू जी ने देश के विषय में ज्ञान करवा दिया। जलसे में उन्हें इस तरह के लोग भी मिल जाते थे, जिन्होंने कई यात्राएँ तथा तीर्थ किए हुए थे। वे हिन्दुस्तान के कोने-कोने से वाकिफ थे। इनमें से कई सैनिक भी थे, जो युद्ध करने के लिए विदेशों में भी गए थे। अतः जब नेहरू जी दुनिया के बारे में उन्हें बताते, तो उनकी समझ में आ जाता था।

Question 4: किसान सामान्यतः भारत माता का क्या अर्थ लेते थे?

Ans: किसानों के अनुसार उनके देश की धरती ही भारतमाता थी। वह सामान्यतः भारतमाता का यही अर्थ लेते थे।

Question 5: भारतमाता के प्रति नेहरू जी की क्या अवधारण थी?

Ans: भारतमाता के प्रति नेहरू जी की अवधारण किसानों से बिलकुल अलग थी। उनका मानना था कि हमारे देश की धरती, खेत, पहाड़, जंगल, झरने इत्यादि इसके अंग हैं। मगर भारत के सभी लोग जो पूरे देश में हैं, सही मायनों में ये ही भारतमाता हैं।

Question 6: आजादी से पूर्व किसानों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता था?

Ans: आजादी से पूर्व किसानों को इन समस्याओं का सामना करना पड़ता था।

  • कर्ज से युक्त जीवन
  • भूखमरी
  • जमींदारों द्वारा शोषण
  • महाजनों द्वारा शोषण
  • आय से अधिक लगान

Question 7: आजादी से पहले भारत-निर्माण को लेकर नेहरू के क्या सपने थे? आजादी के बाद वे साकार हुए? चर्चा कीजिए।

Ans: आजादी से पहले भारत-निर्माण को लेकर नेहरू के ये सपने थे।

  • भारत को आर्थिक रूप से मज़बूत बनाया जाए।
  • भारत का चहुँमुखी विकास हो।
  • भारत से गरीबी का उन्मूलन हो।
  • भारतीय किसानों की विपत्तियों की समाप्ति हो।
  • भारत में औद्योगिकी क्रांति तथा उसका विकास हो।

आजादी से पहले भारत-निर्माण को लेकर नेहरू ने जो सपने देखे थे, उनमें से कई साकार हो गए हैं। आज भारत आर्थिक रूप से मज़बूत बन गया है। भारत का चहुँमुखी विकास हो रहा है। भारत में औद्योगिकी क्रांति भी हुई है और आज उसका विकास चरम पर है। कुछ सपने हैं, जो आज भी सफल नहीं हुए हैं। आज भी किसानों की विपत्तियों का अंत नहीं हुआ है तथा गरीबी उन्मूलन नहीं हुआ है।

Question 8: भारत के विकास को लेकर आप क्या सपने देखते हैं? चर्चा कीजिए।

Ans: भारत के विकास को लेकर मैं बहुत से सपने देखती हूँ। वे इस प्रकार हैं-

  • चारों तरफ शिक्षा का प्रचार-प्रसार हो। देश में कोई अशिक्षित न रहे।
  • भारत में कोई गरीब और भूखा न हो।
  • सबके पास पक्के मकान और हर प्रकार की सुख-सुविधाएँ हों।
  • बेरोज़गारी समाप्त हो जाए।
  • भारत की आत्मनिर्भरता हर क्षेत्र में हो।
  • प्रदूषण की समस्या से निजात पा सकें।
  • देश की तेज़ी से बढ़ती आबादी को रोका जा सके।
  • भारत शीघ्र ही विकसित राष्ट्र कहलाए।

Question 9: आपकी दृष्टि में भारतमाता और हिन्दुस्तान की क्या संकल्पना है? बताइए।

Ans: मेरी दृष्टि में भारतमाता और हिन्दुस्तान की संकल्पना नेहरू जी की बतायी अवधारणा से अलग नहीं है। भारतामाता और हिन्दुस्तान मात्र धरती की संकल्पना से नहीं हो सकता। उसमें रहने वाले लोग उसे सुंदर और जीवंत बनाते हैं। उसमें रंग भरते हैं। उनके कारण ही एक धरती स्वरूप पाती है, और नाम पाती है। भारत का स्वरूप तो सबसे निराला है। उसके मस्तक में हिमालय मुकुट के रूप में और सागर उसके चरणों को धोता हुआ प्रतीत होता है। यहाँ सभी धर्मों के लोग प्रेम से साथ रहते हैं।

Question 10: वर्तमान समय में किसानों की स्थिति किस सीमा तक बदली है? चर्चा कर लिखिए।

Ans: वर्तमान समय में किसानों की स्थिति में बहुत बदलाव आया है। अब खेती में अत्याधुनिक मशीनों से काम लिया जाने लगा है। मगर यह अनुपात बहुत कम है। आज भी ऐसे स्थानों पर जो बहुत दूर हैं, वहाँ के किसानों की स्थिति पहले के समान ही है। प्रकृति की मार उनकी मेहनत को नष्ट कर रही है। कर्ज के बोझ तले दबकर वे आत्महत्या करने के लिए विवश हो रहे हैं। आज भी उनके बच्चे भूख से मर रहे हैं। सभी सुख-सुविधाओं से विहीन किसान विपन्नता का जीवन जीने के लिए मजबूर हैं।

Bharat Mata Class 11th MCQs

Q 1. ‘भारत माता’ किसके द्वारा रचित पाठ है?|

A. प्रेमचंद

B. जवाहर लाल नेहरू

C. कृष्ण नाथ

D. कृष्णचंद्र

Ans- B. जवाहर लाल नेहरू

Q 2. ‘भारत’ किस भाषा का शब्द है?

A. हिंदी

B. संस्कृत

C. फ़ारसी

D. अंग्रेज़ी

Ans- B. संस्कृत

Q 3. खैबर दर्रा किस दिशा में है?|

A. उत्तर-पश्चिम

B. उत्तर-पूर्व

C. दक्खिन-पूर्व

D. दक्खिन उत्तर

Ans- A. उत्तर-पश्चिम

Q 4. कन्याकुमारी किस दिशा में है?

A. पूर्व

B. पश्चिम

C. उत्तर

D. दक्षिण

Ans- D. दक्षिण

Q 5. सब से अधिक प्रश्न कौन पूछते थे?

A. मजदूर

B. किसान

C. व्यापारी

D. डॉक्टर

Ans- B. किसान

Q 6. भारत माता दरअसल क्या है?

A. ज़मीन

B. सेना

C. नेता

D. करोड़ों देशवासी

Ans- D. करोड़ों देशवासी

Q 7. किसने यह उत्तर दिया था- “भारतमाता से उनका मतलब धरती से है”?

A. जाट ने

B. अध्यापक ने

C. नेता ने

D. डॉक्टर ने

Ans- A. जाट ने

Q 8. ‘महदूद’ नज़रिया कैसा होता है?

A. विस्तृत

B. सीमित

C. मध्यम

D. निकृष्ट

Ans- A. विस्तृत

Q 9. ‘यक-साँ’ क्या होता है?

A. एक समान

B. अलग-अलग

C. विभाजित

D. मज़बूत

Ans- A. एक समान

Q 10. किस सन् के बाद आर्थिक मंदी पैदा हुई थी?

A. बीस

B. तीस

C. चालीस

D. पचास

Ans- B. तीस